खुश - नसीब होते हैं बादल
जो दूर रह कर भी
ज़मीन पर बरसते हैं
और एक हम हैं
जो एक ही दुनिया में रह कर भी
मिलने को तरसते हैं ..

Khush- naseeb hote hain baadal
jo door reh kar bhi
zameen par baraste hain
aur ek hum hain
jo ek hi duniya mein reh kar bhi
milne ko taraste hain..

20

Hindi |