कब्रिस्तान हो या शमशान
लेट कर जाइये सलाम-ही-सलाम ..

10

Urdu |