धन्य हो smriti irani serving cabinet माता
तुम्हे सुन कर सिर शर्म से झुक जाता
फर्क और तर्क इंसान करता है
ईश्वर कहीं भी हो केवल प्यार करता है ..
#sabarimala

00

Hindi |